शेयर बाजार में Volume क्या होता हैं ?

शेयर मार्केट क्या है,कैसे सीखे जानिए हिंदी में- What is Share Market

दोस्तों क्या आप शेयर मार्केट के बारे में सभी जानकारी विस्तार पूर्वक जानना चाहते हैं Share Market क्या है | तो आप बिल्कुल सही पेज पर आए हैं| इसमें आपको Stock Market के बारे में सभी जानकारी हिंदी में सीखने को मिलेगी| इस पोस्ट में आपको शेयर बाजार से जुड़े सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे| जैसे शेयर मार्केट क्या है| शेयर मार्केट में निवेश कैसे करें| Investment के लिए खोले जाने वाले Account कौन से हैं| शेयर मार्केट से पैसे कैसे कमाए| Share market को समझने के लिए Best Book कौन सी हैं| तथा Share market को पढ़ने के लिए Best Institute और Course कौन से हैं| यह सभी जानकारी आपको इस पोस्ट में जानने को मिलेगी|

Share Market Kya Hai

Table of Contents

Share Market क्या है – Share Market वह Market होती है| जहां पर अलग-अलग Company के Share खरीदने और बेचने का काम किया जाता है| शेयर मार्केट भी अन्य मार्केट की तरह सामान्य ही होती है| शेयर बाजार एक ऐसी जगह है| जहां पर बहुत सारी Company Listed होती हैं| और यह कंपनीया अपने कुछ शेयर आम जनता को प्रदान करने का मौका देती है| इन के शेयर के दाम भी अलग-अलग होते हैं| बहुत लोग ऐसे होते हैं| जो Company से Share को खरीदते हैं| तथा उनका दाम बढ़ जाने पर उन्हें बेच देते हैं| और इस प्रकार से पैसा कमाते हैं| आपको बता दें कि Company के Share के दाम Fix नहीं होते हैं| कम या ज्यादा होते रहते हैं|

बहुत से लोग कंपनियों से शेयर खरीदते ही इसलिए हैं| ताकि उनको आने वाले समय में अधिक Return मिल सके|और उनको भारी फायदा हो| Share Market का काम आप Offline के साथ Online भी कर सकते हैं|

Share Market Kya Hai

शेयर बाजार के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी

Share Market एक ऐसी Market है| जहां पर Company अपने शेयर को मार्केट में आम जनता की खरीद के लिए जारी करती हैं| और इसी के जरिए कंपनियां अपने बिजनेस में हिस्सेदारी खरीदने का मौका जनता को देती है| जो लोग शेयर खरीदना चाहते हैं| वह लोग कंपनी के हिस्सेदार बन जाते हैं| शेयर खरीदने से पहले आपको मार्केट के और यहां के काम करने के तरीके का ज्ञान होना जरूरी होता है| जो लोग Share खरीदना चाहते हैं| उनको काम करने के तरीके के साथ- साथ इसमें कैसे और कब Invest किया जाए| इस बात की जानकारी भी होनी चाहिए| आपको यह भी पता होना चाहिए कि किस प्रकार से पैसे लगाना आपको मुनाफा दिलवा सकता है| आपकी सभी बातों की जानकारी होना इसलिए जरूरी होता है| कि आपको मुनाफा ना हो तो आप को किसी प्रकार का नुकसान भी ना हो सके|

Referral Code Kya Hota Hai
Bijli Meter Change Application

Share Market क्या है

शेयर बाजार में कई बार जोखिम भी उठाने पड़ जाते हैं| इसलिए इस पर निवेश तभी करें जब आप की आर्थिक स्थिति ठीक चल रही हो| जिससे यदि आपको कोई जोखिम उठाना भी पड़े तो आप पर कोई खास फर्क ना हो| ऐसा जरूरी नहीं है कि आपको Share Market में नुकसान ही उठाना पड़े| यदि आपको सभी जानकारी होगी और आप सोच समझकर इस पर निवेश करेंगे| तो आपको बहुत अधिक लाभ होगा|

यदि किसी भी Stock की कीमत में किसी भी तरह का उतार-चढ़ाव होता है| तो वह उतार चढ़ाव उस कंपनी की स्थिति पर निर्भर करता है| और अगर हम स्टॉक मार्केट की बात करें तो यह एक ऐसी मार्केट होती है| इसमें बहुत ही कम समय में पैसे कमाए जा सकते हैं| लेकिन अगर इसमें मुनाफा ना हुआ| तो इसमें आपके पैसे डूबने की संभावना रहती है| मुनाफा होना और ना होना उस Company के उतार-चढ़ाव पर निर्भर करता है| जिससे आपने Share खरीदा है|

शेयर मार्केट में निवेश कैसे करें

यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं| तो आप यह निवेश ऑफलाइन तथा ऑनलाइन दोनों प्रकार से कर सकते हैं| Invest चाहे आप किसी भी प्रकार से करें| लेकिन इसमें आपको एक Stock Broker की आवश्यकता होती है| क्योंकि Share Market में Invest करने के लिए आप Direct प्रवेश नहीं कर सकते| इसीलिए आपको Stock Broker की आवश्यकता होती है| क्योंकि Invester ही आपको शेयर मार्केट तक पहुंचने में आपकी मदद करता है| Share Market में आपको बहुत से Broker मिल जाते हैं| जैसे- Zerodha, Sharekhan, Angel Broking, ICICI Direct आदि| इस प्रकार के ब्रोकर से संबंध उत्पन्न करके आप Account खोलने के काम को पूरा करें| जिससे आप उसमें Invest करेंगे|

Investment के लिए खोलें जाने वाले Account

इन्वेस्टमेंट के लिए खोले जाने वाले खाते दो प्रकार के होते हैं|

Demat Account एक Bank Account की तरह ही होता है| इस Account में आप Share Certificate और अन्य Security को Electronic Form में रख सकते हैं| Deamt Account का मतलब Demat Realization Account होता है| इसमें आप Share Bond Government Securities Mutual Fund Insurance ETFO जैसे Investment को रखने की प्रक्रिया आसानी से कर सकते हैं|

Trading Account एक प्रकार का Interface होता है| जो शेयरों की खरीद और बिक्री की अनुमति देता है| यह Invester के Bank और Demat Account के बीच का एक Interface के रूप शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? में कार्य करता है| Trading Account का मतलब होता है| किसी भी वस्तु या सेवा को कम दामों में खरीदना तथा उस वस्तु या सेवा के दाम बढ़ जाने पर उसे बेच कर लाभ कमाना|

कैसे किसी कंपनी की मार्किट वैल्यू पता करें

यह आर्टिकल लिखा गया सहयोगी लेखक द्वारा Marcus Raiyat. मार्कस रैयत एक U.K., फॉरेन एक्सचेंज ट्रेडर हैं और ये Logikfx के संस्थापक/CEO और इंस्ट्रक्टर भी हैं | लगभग 10 वर्षों के अनुभव के साथ मार्कस सक्रिय रूप से ट्रेडिंग फोरेक्स, स्टॉक्स और क्रिप्टो में भी माहिर हैं और CFD ट्रेडिंग, पोर्टफोलियो मैनेजमेंट और क्वांटिटेटिव एनालिसिस में विशेषज्ञ हैं | मार्कस ने एस्टोन यूनिवर्सिटी से मैथमेटिक्स में BS की शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? डिग्री हासिल की है | Logikfx में इनके काम के लिए इन्हें ग्लोबल बैंकिंग और फाइनेंस रिव्यु के द्वारा "बेस्ट फोरेक्स एजुकेशन एंड ट्रेनिंग U.K. 2021 के रूप में नामांकित किया गया था |

यहाँ पर 8 रेफरेन्स दिए गए हैं जिन्हे आप आर्टिकल में नीचे देख सकते हैं।

यह आर्टिकल १३,५०८ बार देखा गया है।

अगर आप किसी कंपनी में इन्वेस्ट करने की सोच रहे हैं, या फिर अपनी कंपनी बेचना चाह रहे हैं, तो उसकी कीमत का जायजा लगाना अच्छा रहता है क्योंकि इससे आपको पता चलता है की आपको कितनी आमदनी होने की सम्भावना है | कंपनी की मार्किट वैल्यू इन्वेस्टर की उसकी भविष्य में होने वाली आमदनी का आंकलन होता है | [१] X रिसर्च सोर्स बदकिस्मती से, हम एक पूरे बिज़नेस को स्टॉक शेयर जैसे लिक्विड एसेट की तरह वैल्यू नहीं कर सकते हैं; लेकिन, कंपनी की मार्किट वैल्यू को सही से आंकने के लिए कई तरीके मोजूद हैं | इनमें से कुछ आसान तरीकों में आप कंपनी की मार्किट कैपिटलाइजेशन (उसकी स्टॉक वैल्यू और शेयर्स का बकाया) का जायजा ले सकते हैं, उसी प्रकार की कंपनी से तुलना का आंकलन, या पूरी इंडस्ट्री से जुड़े मल्टीप्लायरज़ की मदद से मार्किट वैल्यू पता कर सकते हैं |

इमेज का टाइटल Calculate the Market Value of a Company Step 1

  • ध्यान रहे की ये तरीका सिर्फ पब्लिकली- ट्रेडेड (Publically- traded) कम्पनीज के लिए काम करता है, क्योंकि आप सिर्फ उनकी शेयर वैल्यू को आसानी से पता कर सकते हैं |
  • इस तरीका की एक खामी ये है की वो कंपनी की वैल्यू को बाज़ार के उतार चड़ाव के हिसाब से आंकती है | अगर किसी बाहरी कारण की वजह से स्टॉक मार्किट गिर गया है, कंपनी की मार्किट कैपिटलाइजेशन भी गिर जाएगी हांलाकि उसकी आर्थिक स्थिति अभी भी मज़बूत है |
  • मार्किट कैपिटलाइजेशन, क्योंकि इन्वेस्टर के विश्वास पर निर्भर होती है, कंपनी की सही वैल्यू को पता करने का ये एक अस्थिर और अविश्वसनीय तरीका है | स्टॉक के शेयर की कीमत पता करने के लिए कई फैक्टर काम करते हैं, इसलिए एक कंपनी की मार्किट कैपिटलाइजेशन, की संख्या को भी थोड़ा बदला हुआ माना जाना चाहिए | लेकिन इसके बाद भी, कंपनी का कोई भी संभावित खरीदार को भी बाज़ार से ऐसी ही उम्मीदों होंगी और वो भी उसकी आमदनी पर उसी प्रकार की कीमत लगा सकते हैं |

इमेज का टाइटल Calculate the Market Value of a Company Step 2

कंपनी का मोजूदा शेयर प्राइस देखें: कंपनी का शेयर प्राइस कई वेबसाइट जैसे moneycontrol.com, economictimes.com, Yahoo! Finance, और Google Finance पर आपको मिल सकती है | कंपनी के नाम के बाद "stock" या स्टॉक का सिंबल (अगर आपको पता है) किसी सर्च इंजन में डाल कर स्टॉक कीमत पता करें | आप इस कैलकुलेशन के लिए जिस स्टॉक वैल्यू का प्रयोग करना चाहेंगे वो करंट मार्किट वैल्यू होनी चाहिए, जो की सभी प्रमुख फाइनेंश्यीयल वेबसाइट के स्टॉक रिपोर्ट पेज पर सामने ही दिख जानी चाहिए |

शेयर बाजार में Volume को कैसे समझे ? हिंदी में।

शेयर बाजार में Volume क्या होता हैं ?

शेयर बाजार में Volume क्या होता हैं ?

Table of Contents

Volume क्या होता हैं ?

Share market में दिन के दौरान जो Buying और Selling होती हैं उसके आधार पर जितनी trading हुई हैं वह संख्या हम Volume के आधार पर जान सकते हैं।

या फिर दिन के दौरान जो खरेदी और बिक्री की संख्या होती हैं उसे हम volume कहते हैं।

चार्ट पर Volume को कैसे देखे ?

१.Trend Continuation

Trend Continuation में शेयर का कोईभी ट्रेंड हो वह वॉल्यूम के साध बढ़ता ही जाता हैं।

१. Volume Increase – Price Up Trend

Trend Continuation Volume Increase - Price Up Trend In Hindi

Volume Increase – Price Up Trend

जब किसी शेयर का प्राइस uptrend में जा रहा हैं और उसका volume भी बढ़ रहा हैं तब ऐसा माना जाता हैं की, वह तेजी का ट्रेंड चल रहा हैं वह आगे और तेजी से चलेगा।

अभी बाजार में बिकवाली नहीं करनी चाहिए।

२.Volume Decrease- Price Down Trend

Trend Continuation Volume Decrease- Price Down Trend In Hindi

Volume Decrease- Price Down Trend

जब किसी शेयर का प्राइस Down trend में जा रहा हैं और उसका volume भी कम हो रहा हैं तब ऐसा माना जाता हैं की, वह मंदी का ट्रेंड चल रहा हैं वह आगे और तेजी से चलेगा।

अभी बाजार में खरेदी नहीं करनी चाहिए।

२.Trend Reversal

१.Price increase – volume Decrease

Trend Reversal - Price increase volume Decrease In Hindi

Trend Reversal – Price increase volume Decrease

जब किसी शेयर का प्राइस uptrend में जा रहा हैं और उसका volume भी कम हो रहा हैं तब ऐसा माना जाता हैं की, वह तेजी शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? का ट्रेंड चल रहा हैं वह किसी भी समय मंदी के ट्रेंड में बदल सकता हैं ।

अभी बाजार में खरेदी नहीं करनी चाहिए।

२.Price Decrease volume Increase

Trend Reversal - Price Decrease volume Increase In Hindi

Trend Reversal – Price Decrease volume Increase

जब किसी शेयर का प्राइस downtrend में जा रहा हैं और उसका volume बढ़ रहा हैं तब ऐसा माना जाता हैं की, वह मंदी का ट्रेंड चल रहा हैं वह किसी भी समय तेजी के ट्रेंड में बदल सकता हैं ।

अभी बाजार में बिकवाली नहीं करनी चाहिए।

Volume को देखने का तरीका।

volume में ध्यान देने वाली बात यह हैं की एक या २ candle वॉल्यूम घटने या बढ़ने से बाजार के trend में कोई फरक नहीं पड़ता। कई लोग हैं जो हर candle में volume बढ़ता या घटता देखकर उससे प्रभावित होते हैं और अपने position में बदलाव करते है।

लेकिन ध्यान रहे वॉल्यूम को परख़ने ने के लिए हर candle को देखने की जरुरत शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? नहीं हैं।

इस प्रकार से वॉल्यूम को analyses करने का तरीका पूरीतरह से गलत हैं।

शेयर बाजार में Volume को कैसे देखें

शेयर बाजार में Volume को कैसे देखें ?

Volume को सही तरीकेसे एनालिसिस करने के लिए आप को चार्ट पर पिछले कुछ घंटे या कुछ दिनों का वॉल्यूम का जो एवरेज हैं उसको देखना चाहिये।

वॉल्यूम के एवरेज से ही आप को पता चलेगा की वॉल्यूम बढ़ रहा है या घट रहा हैं।

निष्कर्ष

Volume के आधार पर आप किसी भी प्रकार का ट्रेड नहीं ले सकते हैं , क्योकि वॉल्यूम आप को यह बताता हैं की भविष्य में दूसरे इंडीकेटर्स किस दिशा में जा सकते हैं।

वॉल्यूम के घटने या बढ़ने के साथ दूसरे इंडीकेटर्स बाजार में buying या selling के ट्रेंड पर इशारा करते हैं।

शेयर मार्किट में Volume क्या होता हैं ?

Share market में दिन के दौरान जो Buying और Selling होती हैं उसके आधार पर जितनी trading हुई हैं वह संख्या हम Volume के आधार पर जान सकते हैं।

Volume देखने से हमें क्या पता चलता हैं ?

Volume देखने से हमें दिन के दौरान जो खरेदी और बिक्री की संख्या होती हैं वह पता चलती हैं।

Volume को देखने का तरीका क्या हैं ?

Volume को सही तरीकेसे एनालिसिस करने के लिए आप को चार्ट पर पिछले कुछ घंटे या कुछ दिनों का वॉल्यूम का जो एवरेज हैं उसको देखना चाहिये।
वॉल्यूम के एवरेज से ही आप को पता चलेगा की वॉल्यूम बढ़ रहा है या घट रहा हैं।

शेयर मार्केट का चार्ट कैसे देखते है? How To Read The Chart Of Share Market?

शेयर मार्केट का चार्ट कैसे देखते है? How To Read The Chart Of Share Market? Chart देखने के लिए प्लेटफार्म, कैंडल को समझना, Bullish Candle, Bearish Candle, Candlestick Pattern, Major Reversal Patterns, Continuation Pattern, Moving Average

साथियों, यह प्रश्न अक्सर नए निवेशकों द्वारा पूछा जाता है जो हाल में Share Market में Entry ले ली है पर उसके बारे में मुझे ज्यादा जानकारी नहीं है की शेयर मार्केट का चार्ट कैसे देखें? उन्हें इसके बारे में पता नहीं होता है कि किस तरह से चार्ट को रीड करें और उसमें निवेश करें। अगर देखा जाए तो चार्ट को समझना बहुत ही आवश्यक है। क्योंकि चार्ट को बिना समझे निवेश करना बिना युद्ध कला के ज्ञान के किसी बड़े योद्धा से लड़ने के शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? बराबर है। इसीलिए शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए आप कुछ शेयर मार्केट को समझना बहुत जरूरी है। इसके बारे में बात करेंगे।

शेयर मार्केट का चार्ट कैसे देखते है? How To Read The Chart Of Share Market?

शेयर बाजार का चार्ट देखने के लिए और समझने के लिए सबसे महत्वपूर्ण यह है कि आपको एक ऐसा प्लेटफार्म चाहिए जहां पर चार्ट को अच्छे से Present किया जाए क्योंकि चार्ट को Read करने शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? से पहले आपके पास वह चार्ट होना बहुत ही आवश्यक है। इसके बाद जब आपके पास चार्ट उपलब्ध है तो आप चार्ट के छोटे इकाई कैंडल को समझना शुरू कीजिए। जब आपको कैंडल समझ में आ जाए और यह भी समझ में आ जाए कि किस तरह से चाट बनता है तो टेक्निकल एनालिसिस का इस्तेमाल करके चार्ट को एनालाइज करना शुरू कीजिए की चार्ट किसी Specific Point से ऊपर जाएगा या फिर नीचे। इन सभी चीजों के बारे में हमने नीचे स्टेप में बताया है, जिसे आप अच्छे से पढ़ सकते हैं।

शेयर मार्केट का चार्ट कैसे देखते है?

Chart देखने के लिए प्लेटफार्म: शेयर मार्केट का चार्ट देखने के लिए आपको सबसे पहले कोई ऐसा प्लेटफार्म चाहिए जहां पर आप चार्ट देख पाए। मैं जो प्लेटफार्म यूज करता हूं और आप सभी को भी रेकमेंड करता हूं वह है tradingview.com यहां पर आप बहुत ही अच्छे तरह से चार्ट को देख पाएंगे और एनालाइज कर पाएंगे।

कैंडल को समझना: आप यह जरूर जानते होंगे की किसी चार्ट को पढ़ने से पहले हमें कैंडल को समझना बहुत ही जरूरी है क्योंकि कैंडल चार्ट की सबसे छोटी इकाई है। छोटे-छोटे कैंडल को मिलाकर एक चार्ट का निर्माण होता है। आपको यह बता दे कि कैंडल दो तरह की होती है- 1. Bullish Candle 2. Bearish Candle

Bullish Candle: बुलिश कैंडल सामान्यतः हरी और सफेद रंग शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? की होती है, यह तेजी को दर्शाती है, इसके चार प्रमुख भाग होते हैं Open, Close, Low & High.

Bearish Candle: बियरिश कैंडल सामान्यतः लाल और काली रंग की होती है, यह मंदी को दर्शाती है, इसके चार प्रमुख भाग होते हैं Open, Close, Low & High.

Candlestick Pattern: जब आप कैंडल के बारे में अच्छे से जान और समझ लेते है तो अब आप कैंडलस्टिक पैटर्न के बारे सीखना बहुत आवश्यक है। कैंडलस्टिक पैटर्न बहुत तरह के होते है इसका प्रयोग कर आप शेयर में सबसे पहले एंट्र, एग्जिट, स्टॉपलॉस और टारगेट का अनुमान लगा सकते है।

Major Reversal Patterns: जब आप चार्ट के बारे में बेसिक तरह से रीड करना आ जाये चार्ट अलग अलग टाइम फ्रेम में मेजर रेवेर्सल पैटर्न ढूंढ़ सकते है। इसमें प्रमुख रूप से हेड एंड शोल्डर्स पैटर्न, इनवर्स हेड एंड शोल्डर्स पैटर्न, डबल टॉप और डबल बॉटम पैटर्न आते है।

Continuation Pattern: इस चार्ट पैटर्न में same ट्रेंड को continue किया जाता है। इसमें मुख्य रूप से ट्रैंगुलर, रेक्टंगुलर और फ्लैग एंड पोल चार्ट पैटर्न आते है।

Moving Average: यह एक अच्छा इंडिकेटर है जो अपने पिछले चाल का एवरेज को दर्शाता है। इसमें 50 मूविंग एवरेज, 200 मूविंग एवरेज प्रमुख है।

ऊपर दी गई सभी जानकारियों के आधार पर आप शेयर मार्केट में चार्ट का एनालिसिस कर पाएंगे। इसके लिए प्रमुख रूप से आपको बहुत ही ज्यादा प्रैक्टिस की जरूरत होती है। इसमें हमने कुछ प्रमुख चीजों के बारे में बात किया है। जब आप इतना सीख लेते हैं तो इसके बाद आप चार्ट का एनालिसिस आसानी से कर पाएंगे।

शेयर बाज़ार का चार्ट किस तरह देखते है? FAQ

आर्टिकल के इस भाग में हम कुछ इस आर्टिकल से जुड़ी महत्वपूर्ण सवालों के जवाब जो कुछ नए Investors के मन में अक्षर चल रहे होते है जिसका जवाब मैंने निचे निम्नलिखित प्रकार दर्ज किया है।

क्या शेयर मार्केट से पैसा कमाना संभव है?

Ans. हाँ, परन्तु इसके लिए आपको शेयर को एनालाइज करने का टेक्निकल तथा फंडामेंटल तरीका सीखना होगा।

शेयर बाजार का Chart देखने के लिए कौन से प्लेटफार्म का उपयोग करें?

Ans. Basically, शेयर बाज़ार का Chart देखने के लिए Trending View.in Website का उपयोग करके हम आसानी से शेयर मार्किट का Chart देख सकते है।

इन्हें भी पढ़ें-

मेरा नाम Prabhat Kumar Sharma हैं। मुझे लिखना बहुत पसंद है और मुझे Share Market, Cryptocurrency और Business की बहुत अच्छी और गहरी जानकारी है। मैं इस Blog के माध्यम से इस टॉपिक से जुड़े आपके कठिन शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? से कठिन प्रश्नो को एक बेहतरीन और आसान तरीके से लिखकर बताने का प्रयास करता हूँ।

मुफ़्त ऑनलाइन कुंडली | कुंडली सॉफ्टवेयर

आपका भाग्य पढ़ने के लिए मुझे आपकी कुंडली/Kundli या ज्योतिष जन्म कुंडली/astrology birth chart चाहिए। आप कुंडली सॉफ्टवेयर/ kundli software के माध्यम से कुंडली बना सकते हैं। आपको यहां इस वेबपेज पर एक निःशुल्क जन्म कुंडली कैलकुलेटर/free Janam kundali calculator मिलेगा जिससे आप अपनी निःशुल्क कुंडली बना सकते हैं।

किसी भी ज्योतिषी को अपनी जन्म कुंडली/Janam Kundli दिखाने से पहले कृपया कुंडली सॉफ्टवेयर के माध्यम से जन्मतिथि के अनुसार अपनी कुंडली/ create your kundli as per date of birth अवश्य बना लें।

जन्म कुंडली क्या है?/WHAT IS A BIRTH CHART OR KUNDLI?

इस पृष्ठ पर मौजूद कुंडली कैलकुलेटर से बनाई गई कुंडली आपके जन्म के समय आकाश में ग्रहों की सटीक स्थिति बताती है। इसे वैदिक कुंडली/Vedic Horoscope भी कहा जा सकता है। यह भगवान ब्रह्मा द्वारा बनाया गया एक सबसे शक्तिशाली उपकरण है जिसके जरिए उस व्यक्ति के संपूर्ण जीवन को पढ़ा और उसे सुधारा जा सकता है।

यह ग्रह किसी राशि और नक्षत्र में अपनी विशिष्ट स्थिति के कारण आपको विशिष्ट विशेषताएं प्रदान करते हैं।

ग्रहों की स्थिति वैदिक कुंडली/Vedic Kundali का आधार बनती है जिसमें विभिन्न योग, महा योग और दशा का अपना स्थान होता हैं।

इन सभी ग्रहों की स्थिति सिर्फ कुंडली के विश्लेषण / Kundli analysis के लिए सहायक होती है जो आपके जीवन के अलग अलग पहलू के बारे बता सकते हैं।

सबसे अच्छा ऑनलाइन कुंडली या कुंडली सॉफ्टवेयर/ The best online kundli or kundli software

आप इंटरनेट पर उपलब्ध कई कुंडली बनाने वाले सॉफ्टवेयर/Kundli making software के माध्यम से अपनी कुंडली बना सकते हैं, लेकिन चूंकि एक जन्म कुंडली सटीक कुंडली की भविष्यवाणियों/ kundli predictions की ओर ले जाती है, इसलिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि आपको सटीक वैदिक कुंडली/Vedic Kundali कहां से मिलेगी।

आप मेरी वेबसाइट से निःशुल्क ऑनलाइन कुंडली/free hindi kundli online बना सकते हैं। यहां से आपको अब तक की सबसे सटीक वैदिक कुंडली प्राप्त होगी। इसके साथ साथ मेरी वेबसाइट से आप फ्री कुंडली मिलान/ Horoscope Matching भी करवा सकते हैं। इस वेबसाइट पर मौजूद सभी कैलकुलेटर वैदिक ज्योतिष के आधार पर ही परिणाम देते हैं, जिससे आपको सटीक भविष्यवाणी प्राप्त होगी।

यदि आप हमारी वेबसाइट पर बनी कुंडली को किसी ज्ञानी ज्योतिषी से पढ़वाते हैं तो आपको इस वैदिक कुंडली/Vedic Kundali के जरिए सबसे सटीक कुंडली की भविष्यवाणी/ Kundli predictions प्राप्त होगी।

यह कुंडली/Kundali बनाने वाला सॉफ्टवेयर देश के शीर्ष प्रोग्रामर के साथ मेरे सामूहिक प्रयासों का परिणाम है।

'मेरी कुंडली' मुझे क्या बताती है?/What does ‘my kundli’ tell me?
आपकी कुंडली/ kundali आपके बारे में बहुत सारी बातें बता सकती है जैसे – आपका पिछला जन्म कैसा था। और साथ साथ इस ऑनलाइन कुंडली/online hindi kundli से आपके पिछले जन्म के कर्मों का वर्तमान जीवन पर प्रभाव के बारे में भी पता चल सकता है।
यदि कुंडली विश्लेषण या आकलन/ Kundli analysis किसी विशेषज्ञ द्वारा शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? किया जाता है तो वह आपके वर्तमान जीवन की गुणवत्ता के बारे में आपको बता सकता है। जिसके माध्यम से वर्तमान जीवन को और भी बेहतर बनाया जा सकता है और पिछले जन्मों के बुरे कर्मों को समाप्त किया जा सकता है।

इसलिए, आप जन्मतिथि के अनुसार अपनी कुंडली बनाएं/ create your kundli as per date of birth, और बाकी का काम किसी विशेषज्ञ ज्योतिषी पर छोड़ दें जो आपके बुरे कर्म को कम शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? कर सके और आपके वर्तमान जीवन को खुशियों से भरने का रास्ता बता सके।

कुंडली के आकलन से मुझे कैसे मदद मिलती है?/ How does horoscope reading help me?
आपकी जन्म कुंडली/Janam Kundli आपके पिछले जन्मों के जमा कर्म हैं जिनका प्रभाव आपको इस जन्म में देखने को मिल सकता है। यदि वह अच्छे होंगे तो आपके साथ अच्छा होगा और यदि वह बुरे होंगे तो स्थिति उसके हिसाब से बदलेगी।
जो शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? आपने शेयर मार्केट में एनालिसिस कैसे करें? निःशुल्क जन्म कुंडली/Free janam Kundli बनाई है, वह आपके जीवन का सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज है। इसके जरिए आपके जीवन के कुछ महत्वपूर्ण पहलू जैसे – शिक्षा, करियर, बिज़नेस ज्योतिष , विवाह, वैवाहिक जीवन, बच्चे, संपत्ति, स्वास्थ्य और धन के संबंध में भविष्यवाणी जान सकते हैं।

यदि आप इस निःशुल्क कुंडली/Free Kundali को किसी ज्ञानी ज्योतिषी को दिखाते हैं और उनकी सलाह को मान कर अपने जीवन में संशोधन करते हैं तो आप अपने जीवन को सफल बना कर उसे बिना किसी समस्या के व्यतीत कर सकते हैं।
आपकी कुंडली/My Kundali को देख कर आपको ज्योतिषी आने वाली कई परेशानियों को दूर करने के लिए महत्वपूर्ण उपाय के लिए सुझाव दे सकता है।
आपकी ऑनलाइन कुंडली/ online-Kundali आपके व्यक्तित्व और प्रकृति, व्यवहार, चरित्र, व्यवसाय, करियर, लक्षण, रिश्ते, आईक्यू, ईक्यू और स्वास्थ्य जैसे अन्य पहलुओं पर भविष्यवाणी करने में सहायता कर सकते हैं।

यह आपकी कुंडली ही है, जो आपको उपयुक्त शैक्षणिक क्षेत्र और पेशे का पता लगाने में आपकी सहायता कर सकता है जो आपके लिए सबसे उत्तम साबित हो सकता है। यह आपको अपने जीवन में अपने सपनों और लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करेगा।

रेटिंग: 4.26
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 444