दुनिया के कई देशों ने बिटकॉइन को ले कर कानून बनाए और क़ानूनी तौर पर इसका लेनदेन वहां हो रहा है और यहां तक की एटीएम के द्वारा भी आप कई देशों से बिटकॉइन का लेनदेन कर सकते हैं साथ ही वस्तु या सेवाओं के लेनदेन के लिए भी इसका इस्तेमाल हो रहा है।

बिटकॉइन का भविष्य

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों बिटकॉइन का भविष्य के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

Bitcoin के भविष्‍य को बिटकॉइन का भविष्य लेकर सरकार का संसद में बड़ा बयान, जानिए Finance Minister ने क्‍या कहा

भारत सरकार (Indian Govt) ने संसद में एक लिखित जवाब में साफ कर दिया है कि वो बिटकॉइन (Bitcoin) को एक करेंसी के रूप में मान्‍यता नहीं देगी। वहीं सरकार ने यह भी कह दिया है कि उनके पास बिटकॉइन को लेकर कोई डाटा नहीं है।

Govt big statement in Parliament on future of Bitcoin, know what Finance Minister said

बिजनेस डेस्‍क। भले ही आज क्रिप्‍टो बिल (Crypto Bill 2021) संसद में पेश ना किया गया हो, लेकिन एक बात सरकार ने साफ कर दी है कि वो बिटकॉइन (Bitcoin) को एक करेंसी के रूप में मान्‍यता नहीं देगी। वहीं सरकार ने इस बात को भी स्‍वीकार कर लिया है कि बिटकॉइन को लेकर कोई डाटा नहीं है। वैसे भारत के क्रिप्‍टो एक्‍सचेंज में बिटकॉइन के दाम (Bitcoin Price) में 3 फीसदी की तेजी के साथ कारोबार कर रहे हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि आख‍िर सरकार ओर से क्रिप्‍टोकरेंसी और बिटकॉइन को लेकर और क्‍या जानकारी दी है।

भारत में बिटकॉइन का भविष्य 2021

बिटकॉइन क्या है?

भारत में बिटकॉइन की स्थिति उसके बाजार मूल्य की तरह ही अस्थिर है। निरंतर अस्थिरता के बावजूद, 7 मिलियन से अधिक भारतीयों द्वारा डिजिटल मुद्रा बाजार में लगभग 1 बिलियन डॉलर का निवेश किया गया है। बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले भारतीयों की संख्या अगले महीनों और वर्षों में आसमान छूने की बिटकॉइन का भविष्य उम्मीद है।

इंफोसिस के गैर-कार्यकारी अध्यक्ष नंदन नीलेकणी ने हाल ही में कहा था कि बिटकॉइन भारत में मूल्य के भंडार के रूप में स्वीकार्य हो सकता है। क्योंकि, जैसा कि उन्होंने कहा, भारत में लेनदेन के लिए क्रिप्टोकरेंसी उपयुक्त नहीं हैं क्योंकि ऐसा करने के लिए देश के पास पहले से ही बेहतर विकल्प (जैसे UPI) हैं।

बिटकॉइन का क्या फायदा है? What is the advantage of bitcoin?

  1. यहां आपकी लेन-देन शुल्क क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड द्वारा भुगतान की तुलना में बहुत कम है।
  2. आप दुनिया में कहीं भी और कभी भी बिना किसी परेशानी के बिटकॉइन भेज सकते हैं।
  3. यहां कोई बिटकॉइन अकाउंट ब्लॉक नहीं है, क्योंकि कभी-कभी बैंक हमारे क्रेडिट या डेबिट कार्ड को किसी कारण से ब्लॉक कर देता है, तो यहां वह समस्या नहीं होती है।
  4. यदि आप लंबे समय में बिटकॉइन में निवेश करना चाहते हैं, तो आपको इससे बहुत लाभ मिल सकता है क्योंकि रिकॉर्ड में देखा गया है कि बिटकॉइन की कीमत बढ़ रही है, आपको इससे बहुत लाभ मिल सकता है।
  5. अगर बिटकॉइन लेनदेन प्रक्रिया की निगरानी किसी सरकार या प्राधिकरण द्वारा नहीं की जाती है, तो कई लोग हैं जो इसका दुरुपयोग करते हैं, तो यह उनके लिए फायदेमंद है।

निष्कर्ष

हमारा मानना है कि अधिक से अधिक लोग इसे समझ रहे हैं और हम क्रिप्टोकरेंसी के भविष्य को लेकर बहुत आशावादी हैं। लेकिन आने वाले समय में क्या होगा ये तो वक्त ही बता सकता है.

आशा है कि हमेशा की तरह आप हमारे इस विषय को समझ गए होंगे। ऐसे ही और आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट पर विजिट कमेंट, शेयर करते रहें।

क्रिप्टोक्यूरेंसी भविष्य: आरबीआई जल्द ला रही अपनी डिजिटल मुद्रा, जानें यह बिटकॉइन से कितनी अलग

cryptocurrency future

दिल्ली | भारत सरकार ने एक दिन पहले घोषणा की कि उसने संसद के आगामी शीतकालीन सत्र बिटकॉइन का भविष्य के दौरान भारत में निजी क्रिप्टोकरेंसी को विनियमित करने वाले विधेयक को स्थानांतरित करने की योजना बनाई है। निर्णय को लोकसभा बुलेटिन में घोषित किया गया था। इस निर्णय ने क्रिप्टोक्यूरेंसी बाजार में एक लहर प्रभाव डाला है। क्योंकि देश में बिटकॉइन का भविष्य बिटकॉइन, सोलाना, डॉगकोइन की कीमतें दुर्घटनाग्रस्त हो गई हैं। जबकि आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विधेयक, 2021 का क्रिप्टोक्यूरेंसी और विनियमन भारत में निजी क्रिप्टोकरेंसी के संचलन को विनियमित करना चाहता है, यह भारतीय रिजर्व बैंक या आरबीआई द्वारा जारी एक आधिकारिक डिजिटल मुद्रा की शुरूआत के लिए एक रूपरेखा बनाने का भी प्रस्ताव करता है। लोकसभा की वेबसाइट पर पोस्ट किए गए विधायी व्यवसाय को सूचीबद्ध करने वाले बुलेटिन के अनुसार बिल भारत में सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित करने का भी प्रयास करता है हालांकि यह कुछ अपवादों को क्रिप्टोकरेंसी और इसके उपयोग की अंतर्निहित तकनीक को बढ़ावा देने की अनुमति देता है। ( cryptocurrency future )

निजी क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाने वाला विधेयक

संसद के आगामी शीतकालीन सत्र में ब्लॉकचेन तकनीक को बढ़ावा देने की कुछ उम्मीदों के साथ भारत में सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाने वाला विधेयक पेश किया जाएगा। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी की जाने वाली आधिकारिक डिजिटल मुद्रा के निर्माण के लिए एक सुविधाजनक ढांचा तैयार करने के लिए यह केंद्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा (सीबीडीसी) की शुरूआत के संबंध में जोड़ा गया। बिटकॉइन का भविष्य लोकसभा बुलेटिन ने आधिकारिक डिजिटल मुद्रा विधेयक, 2021 के क्रिप्टोक्यूरेंसी और विनियमन के बारे में कोई अन्य विवरण नहीं दिया।

भारतीय रिज़र्व बैंक के अनुसार, सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी या CBDC एक केंद्रीय बैंक द्वारा डिजिटल रूप में जारी कानूनी निविदा है। यह फिएट मुद्रा के समान है और फिएट मुद्रा के साथ एक-से-एक विनिमय योग्य है। केवल उसका रूप भिन्न है। बैंक द्वारा जारी एक बयान में, आरबीआई सीबीडीसी और क्रिप्टोकुरेंसी के बीच अंतर का वर्णन करता है। सीबीडीसी एक डिजिटल या आभासी मुद्रा है, लेकिन यह निजी आभासी मुद्राओं से तुलनीय नहीं है जो पिछले एक दशक में बढ़ी है। निजी आभासी मुद्राएं पैसे की ऐतिहासिक अवधारणा बिटकॉइन का भविष्य के लिए पर्याप्त बाधाओं पर बैठती हैं। वे पण्य वस्तु या वस्तुओं पर दावे नहीं हैं क्योंकि उनका कोई आंतरिक मूल्य नहीं है। कुछ का दावा है कि वे सोने के समान हैं स्पष्ट रूप से अवसरवादी प्रतीत होते हैं। आमतौर पर, निश्चित रूप से अब सबसे लोकप्रिय लोगों के लिए, वे किसी भी व्यक्ति के ऋण या देनदारियों का प्रतिनिधित्व नहीं करते हैं। कोई जारीकर्ता नहीं है। बिटकॉइन का भविष्य वे पैसा नहीं हैं (निश्चित रूप से मुद्रा नहीं) क्योंकि यह शब्द ऐतिहासिक रूप से समझा जाने लगा है। इस संबंध में, सीबीडीसी कुछ ऐसा होगा जो बैंकिंग प्रणाली का समर्थन करता है या मौजूदा ढांचे की तारीफ करता है।

WazirX Warrior: Cryptonewshindi

Cryptonewshindi is one of the top crypto media platforms in the national language of India which is Hindi. We started our operations and worked with many big crypto brands. We helped in translating & explaining bitcoin Whitepaper in narrative language with WazirX’s support. Visit here for YouTube videos.

Disclaimer: Cryptocurrency is not a legal tender and is currently unregulated. Kindly ensure that you undertake sufficient risk assessment when trading cryptocurrencies as they are often subject to high price volatility. The information provided in this section doesn't represent any investment advice or WazirX's official position. WazirX reserves the right in its sole discretion to amend or change this blog post at any time and for any reasons without prior notice.

रेटिंग: 4.21
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 298