नाबालिग बच्चे का खोल रहे हैं बैंक खाता, तो रखें इन बातों का ध्यान

नाबालिग बच्चे का खोल रहे हैं बैंक खाता तो पहले जान लें कि आपका बैंक इस पर आपको क्या-क्या सुविधा दे रहे हैं

अपने बच्चे के नाम पर बैंक खाता खोलना उन्हें पैसे से जुड़े मामलों से परिचित कराने का पहला कदम होता है। बैंकिंग और फाइनेंस की बुनियादी बातों से परिचित होने से उनमें सेविंग की आदत बनाने में काफी मदद मिल सकती है। लेकिन, इससे पहले कि आप बच्चे का बैंक खाता खोलने के लिए अपने बैंकर के पास जाएं तो कुछ बातों का ध्यान रखें..

अगर बच्चे की उम्र 18 साल से कम है, तो बैंक इन्हें माइनर अकाउंट कहेगा। 10 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए, खाते को माता-पिता या अभिभावक के साथ संयुक्त रूप से चलाना होता है। अगर बच्चे की उम्र 10 से 18 साल के बीच है, तो बच्चे द्वारा खाते का संचालन किया जा सकता है। 18 वर्ष की आयु पार होने पर खाते को नियमित बचत खाते में परिवर्तित किया जा सकता है और उसके बाद माता-पिता इसे संचालित नहीं कर सकते।

हालांकि, माइनर खाते में इंटरनेट बैंकिंग, ATM या डेबिट कार्ड, चेक बुक सुविधा आदि जैसी सुविधाएं मिलती है लेकिन इसके लिए पहले बैंक कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए से बात कर लें। कई बार इन खातों पर पासवर्ड नहीं मिलता।

7th Pay Commission DA hike: अब इस राज्य के कर्मचारियों का 11 फीसदी बढ़ा DA

बच्चे को चेक बुक और इसकी विशेषताओं के साथ-साथ इसका उपयोग कैसे करना है इसके बारे में बताएं। अपने नाम पर एक चेक ड्रा करें और देखें कि डेबिट और क्रेडिट कार्ड पर दी जानकारी सही है या नहीं।

नाबालिग खाते में फंड्स रखने के लिए अभिभावक के रूप में आप अपने खाते से माइनर के खाते में पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं। आप अपने खाते से स्थायी निर्देश भी दे सकते हैं ताकि हर महीने आपके बच्चे के खाते में पैसा ट्रांसफर होता रहे। आप चाहें तो आईएमपीएस या एनईएफटी के जरिये भी पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं।

कहीं भी खुलवा सकते हैं अकाउंट, स्थायी पते के बहाने बैंक नहीं कर सकता है इनकार

यूटिलिटी डेस्क. आजकल लगभग हर व्यक्ति का बैंक में खाता होता है। बैंक अपने ग्राहकों को कुछ अधिकार देता है, लेकिन बहुत कम लोगों को इसकी जानकारी होती है। जागरूकता न होने से कई बार खाताधारकों को परेशानी झेलनी पड़ती है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने बैंक ग्राहकों को मुश्किलों से निजात दिलाने के लिए बैंकिंग कोड एंड स्टैंडर्ड बोर्ड ऑफ इंडिया (बीसीएसबीआई) का गठन किया है। इसमें ग्राहकों को कई अधिकार दिए गए हैं। बैंक ग्राहकों के लिए इन अधिकारों को जानना जरूरी है।

बैंक में खाता खोलने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

बैंक में खाता खोलने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए, bank-me-khata-kholne-ke-liye-kya-kya-document-chahiye

आज के समय में अधिकतर व्यक्ति अपना खाता बैंक में खोलना पसंद करते है। बहुत सारे लोग अपना खाता में खोलना तो चाहते है। लेकिन उन्हें यह जानकारी नहीं होती है। कि बैंक में खाता खोलने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए, बैंक अकाउंट खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज, या बैंक में खाता खोलने एवं एटीएम के लिए क्या करना होगा। इन प्रश्नो के उत्तर लेख में जानेगे।

वर्तमान समय में सभी के लिए बैंक में खाता खोलना काफी आवश्यक हो गया है। चाहे वह एक कर्मचारी हो या व्यवसायिक हो। क्योकि हर कोई अपने पैसे को सेव करने के बारे में सोचता है। आज के समय में अधिकतर कर्मचारियो की वेतन भी कंपनी के तरफ से बैंक में ट्रांसफर की जाती है। वही एक व्यवसायिक को एक दूसरे के खाते पैसे ट्रांसफर या पैसे के बचत के लिए बैंक में अकाउंट खोलने की आवश्यकता होती है।

बैंक में कई प्रकार के खाते खोले जाते है। अधिकतर व्यक्ति सेविंग अकाउंट और करेंट कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए अकाउंट खोलते है। करेंट अकाउंट वह व्यक्ति खोलते है जो अपना कोई व्यापार करते है। और सेविंग अकाउंट कोई भी अपने पैसे की बचत के लिए किसी भी बैंक में बड़ी आसानी से खोल सकता है। लेकिन खाता खोलने के लिए बैंक कुछ ज़रूरी दस्तावेज मांगता है।

आज के समय में खाता खोलना काफी सिम्पल हो गया है। बैंकिंग सिस्टम काफी एडवांस हो गया है। बैंक में online और offline दोनों माध्यम फ्री में अकाउंट ओपन कर सकते है। बैंक में खाता खोलने का कोई भी चार्ज नहीं लगता है। लेकिन खाताधारक को कुछ राशि खाते में जमा करनी पड़ती है।

बैंक में खाता खोलने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

बैंक में कई प्रकार के अकाउंट खोले जाते है। जिसके लिए डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता होती है। अगर आप चालू खाता Current Account ओपन करते है। तो इसमें business से जुड़े ज़रूरी दस्तावेज मागे जाएंगे। वही बचत खाता Saving Account ओपन करने के लिए कम से कम डाक्यूमेंट्स में अकाउंट ओपन कर सकते कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए है।

बचत खाता खोलने के लिए उम्मीदवार से बैंक पैन कार्ड आधार कार्ड और फोटोग्राफ मांगता है। और खाता ओपन कर देता है। इसके लिए बैंक से बचत खाता का फॉर्म लेना पड़ता है। उसे भरकर अपने सभी दस्तावेज उस फॉर्म के साथ संलग्न करके बैंक में बचत खाता खोल सकते है।

यदि आप के पास आधार कार्ड नहीं है। तो भी बैंक में अकाउंट ओपन कर सकते है। लेकिन पहचान के कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए लिए दूसरे डॉक्यूमेंट होने चाहिए। जैसे पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर कार्ड, पासपोर्ट, होना चाहिए पता प्रूफ के लिए वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, इलेक्ट्रिसिटी बिल, गैस बिल, जैसे दस्तावेज बैंक में खाता खोलने के लिए लगा सकते है। इसके अलावा पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ की आवश्यकता होगी।

KYC के लिए बैंक आवेदक से पैन कार्ड और आधार कार्ड की मांग करता है। अधिकतर बैंक में सेविंग अकाउंट आधार कार्ड, पैन कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए कार्ड, और फोटोग्राफ, होने ओपन हो जाते है। अगर आपके पास भी इतने ही दस्तावेज मौजूद है। तो आप बैंक में आसानी से केवाईसी करके अकाउंट ओपन कर सकते है।

मिलते जुलते लेख

खाता खोलने के लिए डाक्यूमेंट्स

  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ्स
  • पहचान के लिए प्रमाण पत्र – (आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, इसमें से कोई एक)
  • पता के लिए प्रमाण पत्र – (आधार कार्ड, वोटर कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, इलेक्ट्रिसिटी बिल, में से कोई एक)

बैंक में खाता खोलने के लिए न्यूनतम आयु

बैंक में खाता खोलने के लिए आरबीआई के द्वारा कोई भी आयु लिमिट नहीं तय की गयी है। कम से कम आयु में अकाउंट ओपन कर सकते है। नाबालिग बच्चो के भी अकाउंट ओपन किये जा सकते है। लेकिन नाबालिग बच्चो के अकाउंट ओपन करने के लिए पैरेंट के दस्तावेज की मांग की जाएगी। कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए उसी के आधार पर बैंक में नाबालिग बच्चो के अकाउंट ओपन किये जांयेंगे।

अगर 10 वर्ष से ऊपर का कोई बच्चा है। तो वह स्वतंत्र होकर बैंक में अकाउंट ओपन कर सकता है। आरबीआई के अनुसार दस वर्ष के ऊपर के बच्चे स्वतंत्र होकर बैंक में अपना सेविंग अकाउंट/ फिक्स्ड डिपाजिट अकाउंट / रेकरिंग डिपाजिट अकाउंट / ओपन का कर सकते है।

मोबाइल से बैंक में खाता कैसे खोलें?

आज के इस आधुनिक युग में बैंकिंग सिस्टम काफी एडवांस हो चूका है। अधिकतर बैंक कई सुविधाओं ऑनलाइन ग्राहक तक पहुंचाते है। लेकिन कई बैंको के द्वारा ऑनलाइन अकाउंट ओपन करने की भी सुविधा दी जाती है। जिसमे ग्राहक बचत खाता / सावधि खाता / आवर्ती खाता / घर बैठे ऑनलाइन खोल सकते है।

ऑनलाइन मोबाइल से अकाउंट ओपन करने के लिए ऊपर बताये सभी दस्तवेज मौजूद होने चाहिए। अकाउंट ओपन करने के बाद ऑनलाइन केवाईसी विडिओ कालिंग के माध्यम से पूरा किया जा सकता है। उसके पश्चात् अकाउंट एक्टिवटे हो जायेगा। और उसके बाद सभी बैंकिंग सुविधाएं ली जा सकती है।

बैंक में खाता खोलना एवं एटीएम

बैंक में खाता खोलने के बाद बैंक ग्राहक को कई सुविधाएं देता है। जैसे विथड्रावल के लिए चेक बुक, एटीएम कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा, क्रेडिट कार्ड, अन्य सुविधाएं बैंक ग्राहक को देता है। अधिकतर बैंक यह सभी सुविधाएं ग्राहक को मुहैया करते है।

अगर आप अकाउंट ओपन करने के बाद एटीएम लेना चाहते है। तो आप बड़ी आसानी से बैंक से ले सकते है। कई बैंक के द्वारा बिना अप्लाई किये एटीएम कार्ड दे दिया जाता है। लेकिन कुछ बैंको में एटीएम कार्ड के लिए एक एप्लीकेशन फॉर्म भरना पड़ता है। उसके बाद एटीएम कार्ड इशू हो जाता है।

ऑनलाइन खाता खुलवाना है

ऑनलाइन खाता खोलना काफी सिम्पल हो गया है। अधिकतर बैंक ऑनलाइन बैंक में खाता खोलने का मौका देते है। इसके लिए आपको बैंक की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा। न्यू अकाउंट का ऑप्शन मिलेगा उस पर क्लिक करने के बाद निजी इनफार्मेशन देखकर आवेदक ऑनलाइन घर बैठे अकाउंट ओपन कर सकता है।

समाप्त

आशा करते है। मेरे द्वारा इस लेख में लिखी इनफार्मेशन से सहायता मिला हो। इसमें मैंने शेयर किया है कि बैंक में खाता खोलने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए, इसके अतिरिक्त ऑनलाइन खाता कैसे खुलेगा, मोबाइल से खाता कैसे खुलेगा, से सम्बंधित जानकारी मैंने लेख कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए में शेयर किया है।

यदि इस लेख से जुड़ा आपका कोई भी किसी भी प्रकार का प्रश्न हो तो कमेंट के जरिये पूछ सकते है। अधिक जानकारी के लिए इस ब्लॉग पर पहले से कई आर्टिकल पब्लिश किये गए है। उसे भी आप पढ़ सकते है। यह लेख पसंद आया हो इससे सहायता मिला हो। तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले।

किस बैंक में बचत खाता खोलने से होगा सबसे ज्यादा मुनाफा, इधर जानें कितना मिलेगा ब्याज

किस बैंक में बचत खाते पर कितना मिल रहा है ब्याज

आपकी सैलरी, निवेश और लोन की ईएमआई बचत खाते की मदद से ही प्रबंध की जाती है लेकिन ज्यादातर लोगों में से कम ही लोगों का यह मालूम होगा कि किस खाते में रखने पर बैंक ज्यादा ब्याज देता है। बैंक की ओर से बचत खाते में मामूली ब्याज ही मिलता है लेकिन कुछ बैंक ऐसे भी हैं जो आपकी बची राशि पर ज्यादा ब्याज दर देते हैं। ऐसे बैंक ज्यादातर छोटे और नए होते हैं। आइए यहां जानते हैं कि देश में कौन-कौन से ऐसे बैंक हैं जो बचत खाते पर ज्यादा ब्याज दे रहे हैं.

इंडसइंड बैंक
यह बैंक बचत खाते पर चार से छह फीसदी ब्याज देता है। इस खाते में हर महीने 1,500 रुपये से 2,500 रुपये का औसत मासिक बैलेंस बनाए रखना होता है।

एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक
ये बैंक चार फीसद से सात फीसद तक ब्याज देता है। इसमें हर महीने 2,000 रुपये से 5,000 रुपये तक का बैलेंस रखना जरूरी होता है।

डीसीबी बैंक
डीसीबी बैंक बचत खाते पर 3.25 फीसद से 5.5 फीसद तक का ब्याज देता है और इसमें हर महीने 5,000 रुपये मिनिमम बैलेंस रखना जरूरी होता है।

यस बैंक
यह बचत खाते पर चार से छह फीसदी की ब्याज दर से ब्याज देता है। इस खाते में दस हजार रुपये का बैलेंस जरूरी है।

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक
इस बैंक बचत खाते पर चार से 6.5 फीसद तक का ब्याज मिलता है। इस खाते कोई बैलेंस मेंटेन करने की जरूरत नहीं होती है।

बंधन बैंक
बंधन बैंक के बचत खाते में चार से 7.15 फीसद तक का ब्याज मिलता है। इस खाते में 5,000 रुपये का बैलेंस रखना जरूरी है।

लक्ष्मीविलास बैंक
इस बैंक के तहत ग्राहक को 3.25 से छह फीसद का ब्याज मिलता है। इसमें तिमाही आधार पर 500 रुपये से एक हजार रुपये खाते में रखना जरूरी है।

आरबीएल बैंक
इस बैंक के तहत पांच फीसद से 6.75 फीसद तक का ब्याज मिलता है। इस बैंक के खाते में 2,500 से 5,000 रुपये तक का बैलेंस रखना जरूरी है।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक
यह बैंक अपने बचत खाते पर छह से सात फीसदी तक का ब्याज देता है। इस बैंक के खाते में 10,000 रुपये बैलेंस रखना जरूरी है।

आपकी सैलरी, निवेश और लोन की ईएमआई बचत खाते की मदद से ही प्रबंध की जाती है लेकिन ज्यादातर लोगों में से कम ही लोगों का यह मालूम होगा कि किस खाते में रखने पर बैंक ज्यादा ब्याज देता है। बैंक की ओर से बचत खाते में मामूली ब्याज ही मिलता है लेकिन कुछ बैंक ऐसे भी हैं जो आपकी बची राशि पर ज्यादा ब्याज दर देते हैं। ऐसे बैंक ज्यादातर छोटे और नए होते हैं। आइए यहां जानते हैं कि देश में कौन-कौन से ऐसे बैंक हैं जो बचत खाते पर ज्यादा ब्याज दे रहे हैं.

इंडसइंड बैंक
यह बैंक बचत खाते पर चार से छह फीसदी ब्याज कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए देता है। इस खाते में हर महीने 1,500 रुपये से 2,500 रुपये का औसत मासिक बैलेंस बनाए रखना होता है।

एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक
ये बैंक चार फीसद से सात फीसद तक ब्याज देता है। इसमें हर महीने 2,000 रुपये से 5,000 रुपये तक का बैलेंस रखना जरूरी होता है।

डीसीबी बैंक
डीसीबी बैंक बचत खाते पर 3.25 फीसद से 5.5 फीसद तक का ब्याज देता है और इसमें हर महीने 5,000 रुपये मिनिमम बैलेंस रखना जरूरी होता है।

यस बैंक
यह बचत खाते पर चार से छह फीसदी की ब्याज दर से ब्याज देता है। इस खाते में दस हजार रुपये का बैलेंस जरूरी है।

उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक
इस बैंक बचत खाते पर चार से 6.5 फीसद तक का ब्याज मिलता है। इस खाते कोई बैलेंस मेंटेन करने की जरूरत नहीं होती है।

बंधन बैंक
बंधन बैंक के बचत खाते में चार से 7.15 फीसद तक का ब्याज मिलता है। इस खाते में 5,000 रुपये का बैलेंस रखना जरूरी है।

लक्ष्मीविलास बैंक
इस बैंक के तहत ग्राहक को 3.25 से छह फीसद का ब्याज मिलता है। इसमें तिमाही आधार पर 500 रुपये से एक हजार रुपये खाते में रखना जरूरी है।

आरबीएल बैंक
इस बैंक के तहत पांच फीसद से 6.75 फीसद तक का ब्याज मिलता है। इस बैंक के खाते में 2,500 से 5,000 रुपये तक का बैलेंस रखना जरूरी है।

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक
यह बैंक अपने बचत खाते पर छह से सात फीसदी तक का ब्याज देता है। इस बैंक के खाते में 10,000 रुपये बैलेंस रखना जरूरी है।

कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए

अपने मौजूदा एसबीआई खाता के लिए इंटरनेट बैंकिंग सुविधा हेतु आवेदन करने के लिए इंटरनेट बैंकिंग फार्म डाउनलोड करें।

    ( ,21.6 केबी ) ( , 35.5 केबी ) ( , 38.5 केबी ) ( , 32 केबी )

नया खाता खोलने, एसबीआई कार ऋण या गृह ऋण हेतु आवेदन करने के लिए फार्म डाउनलोड करें।

टीडीएस छूट के लिए टीडीएस फार्म 15 जी/एच डाउनलोड करें।

    ( , 58.2 कौन से बैंक में खाता खोलना चाहिए केबी ) ( , 71.5 केबी )
    ( , 21.5 केबी )

एसबीआई में एनआरआई खाता खोलने हेतु फार्म डाउनलोड/प्रिंट करने के लिए, कृपया यहाँ क्लिक करें। click here

रेटिंग: 4.95
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 349