इनवेस्टमेंट करने से रोकता है ये डर

वैल्यू स्टॉक्स खोज रहे? जानिए ये 22 टॉप स्टॉक्स, जहां अमीर लोगों के फंड मैनेजर्स ने किया है निवेश

भीड़-भाड़ वाले बाजार में वैल्यू स्टॉक्स (Value Stocks) खोजना कोई आसान काम नहीं है। वैल्यू स्टॉक्स पता करने का एक तरीका यह जानना हो सकता है आखिर अमीर लोगों के पैसों को संभालने वाले सफल मनी मैनेजर्स इन दिनों कहां निवेश कर रहे हैं। इस आर्टिकल में हम आपको जुलाई में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले कुछ पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विसेज (PMS) फंड्स की टॉप होल्डिंग्स के बारे में बता रहे हैं। पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विसेज (PMS) का इस्तेमाल अमीर लोग अपना पैसे निवेश करने में करते हैं। इन आंकड़ों को PMS बाजार ने संकलित किया है।

लेक वाटर एडवाइजर की लेक वाटर स्ट्रैटेजी

यह मल्टी-कैप फंड जुलाई में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला फंड रहा और इसने इस महीने 17.43 प्रतिशत का रिटर्न दिया। हालांकि इसने पिछले एक साल में 4.65 फीसदी का नेगेटिव रिटर्न दिया है। फंड के होल्डिंग्स में शामिल अधिकतर शेयरों में तिमाही नतीजों के बाद भारी खरीदारी देखी गई। फंड ने इन शेयरों में अपना आवंटन सबसे अधिक रखा है- बजाज फाइनेंस (32%), टाटा मोटर्स (11%), सोना BLW प्रेसिजन फोर्जिंग (9%), आरती इंडस्ट्रीज (8%) और पीआई इंडस्ट्रीज (7%)।

अमीर लोग औसत व्यक्ति से लाख गुना अधिक ग्रीन हाउस का उत्सर्जन करते हैं: ऑक्सफैम रिपोर्ट

‘कार्बन बिलियनेरीज: द इन्वेस्टमेंट एमिशन ऑफ द वर्ल्ड्स रिचेस्ट पीपुल’ शीर्षक से प्रकाशत रिपोर्ट में कहा गया अमीर लोग कहाँ निवेश करते हैं? है कि इन अत्यंत अमीर लोगों की 183 कंपनियों में कुल 2.4 ट्रिलियन हिस्सेदारी है। जीवाश्म ईंधन और सीमेंट जैसे प्रदूषणकारी उद्योगों में उनका निवेश 500 कंपनियों के मानक एवं छोटे समूह के औसत का दोगुना है।

कुल मिलाकर ये 125 अरबपति हर साल 39.3 करोड़ टन सीओ2ई (कार्बन डाईऑक्साइड के समान) के लिए निवेश करते हैं जो 6.7 करोड़ की आबादी वाले देश फ्रांस के वार्षिक कार्बन उत्सर्जन के बराबर है।

रिपोर्ट के अनुसार, इतने सीओ2ई के उत्सर्जन के लिए प्रत्येक अरबपति को एक निजी जेट से 1.6 करोड़ बार दुनिया का चक्कर लगाना होगा। वहीं 18 लाख गाएं अगर समान स्तर पर सीओ2ई का उत्सर्जन करें तो यह 125 अरबपतियों के ऊर्जा खर्च के बराबर होगा। प्रत्येक अरबपति के उत्सर्जन की भरपाई के लिए करीब 40 लाख लोगों को शाकाहारी बनना होगा।

Financial Planning: अमीर बनना है बेहद आसान, बिना कुछ किए कैसे कमा सकते हैं पैसा? पढ़ें पूरा प्रोसेस

By: abp news | Updated at : 26 Oct 2021 03:45 PM (IST)

Financial Planning: हम जानते हैं कि रोम एक दिन में नहीं बना था, और यह भी कॉमन है कि दुनिया की सभी अच्छी चीजों को बनने में समय लगता है. आज हमें उन लाभों के बारे में सोचने के लिए प्रोग्राम नहीं किया जाता है जिसपर इनवेस्टमेंट कर हम कर 20 साल बाद रिटर्न अर्जित कर सकते हैं. हमने यह माना है कि इनवेस्टमेंट हमारे जीवन को बेहतर और सिक्योर बनाने की क्षमता रखता है, लेकिन फिर भी इनवेस्टमेंट की बेसिक जानकारी और जागरूकता की कमी के कारण हम इस परिवर्तन को अपना नहीं पा रहे हैं. कंपाउंडिंग के चमत्कार दिखाने का कोई भी ब्लूप्रिंट नहीं है. अगर आप कम्पाउंडिंग की ताकत (Power of Compounding) को समझ लेते हैं तो आपको धनवान बनने से कोई नहीं रोक पाएगा.

अमीर लोग अपने बच्चों को देते हैं मनी मैनेजमेंट के ये 3 मंत्र, आप भी फॉलो कर बदल सकते हैं किस्मत

Vikash Tiwary

Written By: Vikash Tiwary @ivikashtiwary
Published on: November 14, 2022 21:21 IST

अमीर लोग अपने बच्चों को देते हैं मनी मैनेजमेंट 3 मंत्र- India TV Hindi

Photo:INDIA TV अमीर लोग अपने बच्चों को देते हैं मनी मैनेजमेंट 3 मंत्र

Money Management Tips: भारत एक विकासशील देश है। यहां की अधिकतर आबादी आज भी खेती से जुड़ी हुई है। वहीं अगर इसके इतर देखें तो एक ऐसा भी वर्ग है जिसके पास अथाह संपत्ति है। सुख है, सुविधा है, जरूरत की सभी चीजें उपलब्ध है। ऑक्सफैम की एक रिपोर्ट को देखें तो पता चलता है कि भारत की 10 फीसदी आबादी के पास 77% संपत्ति है। बाकि के 90 फीसदी लोग मात्र 23% संपत्ति में गुजर-बसर करने को मजबूर है। आखिर ये 10 फीसदी अमीर घर के बच्चे भी बड़े होकर अमीर क्यों बने रहते हैं। वो क्यों एक अच्छा बिजनेसमैन और अच्छा निवेशक बन जाते हैं?

अमीर पैरेंट्स अपने बच्चे को शुरु से देते हैं ट्रेनिंग

ध्यान रहे हमारे कहने का मतलब ये नहीं है कि बाकि की 90% आबादी वाले लोगों में से कोई अमीर नहीं बनता! वो लोग भी अमीर बनते हैं लेकिन उनकी संख्या बेहद कम होती है। अमीर लोग अपने बच्चे को उसके बचपन से ही मनी मैनेजमेंट के बारे में सिखाते हैं। ताकि उन्हें कम उम्र से ही पैसा कमाने, सेविंग करने और सही जगह पर निवेश करने के बारे में पता चल सके।

आमतौर पर जो मिडिल इनकम वाले पैरेंट्स होते हैं, जिनकी थोड़ी अच्छी कमाई होती है वो अपने बच्चों को पॉकेट मनी देते हैं। अगर वो पॉकेट मनी के साथ उसे बेसिक ट्रेनिंग भी दें तो ये उनके बच्चे के भविष्य के लिए काफी अच्छा होगा।

The Psychology of Money: आप अमीर बनेंगे या नहीं ये पैसा सायकोलॉजी तय करती है

The Psychology of Money: आप अमीर बनेंगे या नहीं ये पैसा सायकोलॉजी तय करती है

मनी, बिजनेस फाइनेंस अमीर लोग कहाँ निवेश करते हैं? से जुड़ी किताबें अक्सर लोग इसलिए पढ़ने से बचते हैं क्योंकि वो काफी जटिल भाषा में लिखी होती हैं. मगर सायकोलॉजी ऑफ मनी में लेखक ने अमीर लोग कहाँ निवेश करते हैं? बड़ी आसान भाषा में समझाया है. किताब में 19 छोटी छोटी कहानियों के जरिए मनी से जुड़ी कई बड़ी बातों को समझाया है.

पर्सनल फाइनेंस से जुड़ी आपको कई ऐसी किताबें मिल जाएंगी जो बताती हैं कि कौन सा स्टॉक बढ़िया, एक मजबूत कंपनी कैसे चुनें, कैसे निवेश करें, कहां अमीर लोग कहाँ निवेश करते हैं? निवेश करेंगे. मगर ऐसी गिनी चुनी किताबें है जो आपको बताती हैं कि पर्सनल फाइनेंस है क्या, ये क्यों जरूरी है और ये बात सॉइकॉलजी ऑफ मनी से बेहतर कौन बता सकता है.

किताब की मुख्य बातें

सबसे अच्छी बात मनी बिजनेस फाइनेंस से जुड़ी किताबें अक्सर लोग इसलिए पढ़ने से बचते हैं क्योंकि वो काफी जटिल भाषा में लिखी होती हैं. मगर सायकोलॉजी ऑफ मनी में लेखक ने बड़ी आसान भाषा में समझाया है. किताब में 19 छोटी छोटी कहानियों के जरिए मनी से जुड़ी कई बड़ी बातों को समझाया है. नीचे इस किताब से मिलने वाली कुछ 11 प्रमुख बातों का जिक्र करने जा रहे हैंः

1. पैसा नहीं उसे लेकर आपका रवैया अमीर लोग कहाँ निवेश करते हैं? मायने रखता है. मॉर्गन एक कहानी में बताते हैं कि कैसे एक अमेरिकी सफाईकर्मी स्मार्ट इनवेस्टिंग के जरिए करोड़पति बन जाता है. वहीं दूसरी तरह एक मोटी सैलरी कमाने वाला कंपनी का सीईओ अपने गलत रवैये की वजह से बैंकरप्ट हो जाता है.

2. हर किसी के लिए पैसे अमीर लोग कहाँ निवेश करते हैं? के मायने अलग होते हैं. कुछ लोगों के लिए जिनके पास रहने को घर भी नहीं है उनके लिए मिनिमम वेज भी बहुत बड़ी रकम होगी. वहीं दूसरी तरफ किसी कंपनी के एक्जिक्यूटिव या अधिकारी एक लाख डॉलर की सैलरी पर भी नाखुश रह सकते हैं. कुल मिलाकर आप कितना ज्यादा पैसा कमा रहे हैं ये आपकी खुशी नहीं तय करता बल्कि आप किस माहौल, किस परिवेश से आ रहे हैं उस पर निर्भर करता है.

निष्कर्ष

दी सायकोलॉजीऑफ मनी को हर उस इंसान को पढ़नी चाहिए जो निवेश करना चाहता है या कर रहा है. किताब पर्सनल फाइनेंस से लेकर, इनवेस्टिंग तक और फाइनेंशल डिसिजन तक के बारे में बहुत डिटेल में बताती है. हममें से कई लोग पैसे को खुशियों से मापते हैं मगर किताब इस मानसिकता को सिरे से गलत साबित करती है. साथ में पैसे को लेकर कैसा बिहेवियर रखना चाहिए ये भी बताती है. कितने भी बुक रिव्यू लिख दिए जाएं मगर मेरा मानना है कि इस किताब की सीख इसे पढ़कर ही समझ आएगी.

Man's search for meaning: वही जीतता है जो मुश्किल हालात में भी जिंदगी जीने के मायने ढूंढ लेता है

रेटिंग: 4.68
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 666