नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज(BSE): भारत के स्टॉक मार्केट्स में अधिकांश ट्रेडिंग अपने इन मुख्य स्टॉक एक्सचेंजों के माध्यम से होती है।

Indore News: दो माह पहले प्रेम विवाह करने वाले युवक ने दी जान, चार पेज का सुसाइड नोट मिला

शेयर मार्केट का गणित कैसे काम करता है?

शेयर मार्केट एक ऐसी दुनिया है जिसमें अधिकतम ट्रेडर और निवेशक शेयर मार्केट का गणित समझे बिना ही मार्केट में निवेश या ट्रेड करना शुरू कर देते है। यह आमतौर पर वह ट्रेडर होते है जिन्होने अभी – अभी स्टॉक मार्केट की दुनिया में कदम रखा है।

ज्यादातर नए लोग शेयर बाजार में करोड़पति बनने का विचार लेकर आते हैं। और अपना सारा पैसा शेयर बाजार में यही सोचकर लगाते हैं कि बहुत जल्दी ही अमीर बनने बाले है। इसी के चलते वह बिना किसी रिसर्च के गलत शेयर ले लेते है और ये उम्मीद करते है कि अव तो ये ऊपर ही जायेगा लेकिन जिस कंपनी में वह निवेश करते है वह लगातार गिरता रहता है और Share Market में क्या काम करता है अपने पैसे को गंवा देते है।

अगर आप चाहते है कि आप ये सब गलतीयां न हो, जो ज्यादातर लोग करते है तो आपको शेयर मार्केट का गणित और शेयर मार्केट कैसे काम करता है ये समझना होगा। इसलिए इस लेख में हम समझेंगे कि शेयर मार्केट का गणित क्या है और कैसे काम करता है।

शेयर मार्केट का गणित क्या है?

शेयर मार्केट का गणित का मतलव है कि एक निवेशक या ट्रेडर के रूप में समझना कि शेयर मार्केट कैसे काम करता Share Market में क्या काम करता है है और यह समझना कि किसी भी स्टॉक का फंडामेंटल रिसर्च करने में किन – किन गणितीय फॉर्मूलो को इस्तेमाल किया जाता है?

स्टॉक मार्केट को कोई भी Predict नहीं करता है कि अगले पल स्टॉक मार्केट में क्या होने वाला है, क्योंकि स्टॉक मार्केट संभावना पर चलता है इसलिए स्टॉक मार्केट का 100% कोई भी अनुमान नहीं लगा सकता है।

Probability गणित का टॉपिक है जिसे आपने अपने 10वी Share Market में क्या काम करता है कक्षा में पढ़ा होगा, इसलिए इस को समझना आसान है। एक Quote है “No One can Predict the Stock Market” इसलिए किसी भी स्टॉक की रिसर्च कर आप उसके फंडामेंटल और भविष्यों के लक्ष्यों के आधार पर सिर्फ अनुमान लगा सकते है कि वह स्टॉक कहा तक जा सकता है।

#2 Financial Ratios – फाइनेंसियल रेश्यो Share Market में क्या काम करता है

फाइनेंसियल रेश्यो किसी कंपनी की परफॉरमेंस को समझने में मदद करते है और साथ ही उसे सेक्टर की अन्य कंपनियों से तुलना करने में भी मदद करते है कि निवेश के उद्देश्य से रेश्यो के आधार पर नौक – सी कंपनी निवेश के लिए बेहतर है।

स्टॉक मार्केट में बहुत से फाइनेंसियल रेश्यो है लेकिन हम सिर्फ उन्ही फाइनेंसियल रेश्यो को समझेंगे जो किसी स्टॉक का फंडामेंटल रिसर्च करने में मदद करते है।

Return On Assets (ROA) – रिटर्न ऑन एसेट

रिटर्न ऑन एसेट्स (ROA) एक प्रोफिटेबिलिटी मेट्रिक है जो कंपनी कि उस एफिशिएंसी को मापता है जिस पर एक कंपनी अपनी संपत्ति का उपयोग ज्यादा से ज्यादा नेट प्रॉफिट करने के लिए करती है।

एक कंपनी का रिटर्न ऑन एसेट निकालने के लिए कंपनी के नेट प्रॉफिट को उसकी औसत कुल संपत्ति यानि एसेट से विभाजित (Devide) किया जाता है, जिसे आप नीचे फार्मूला में देख सकते है:

स्टॉक मार्केट सीखें !– शेयर मार्केट कैसे काम करता है?

कुछ शताब्दियों पहले, लोग अपने पैसे से व्यवसाय चलाते थे। उनके व्यवसाय छोटे थे और जब भी उन्होंने अपने परिचालन के पैमाने को बढ़ाया, उन्होंने केवल अपने पैसे से किया। परन्तु यह शेयर मार्केट क्या है और यह कैसे काम करता है?

सभी व्यवसाय मालिकों के लिए अपने स्वयं के पैसे से कारखानों और उद्योगों का निर्माण करना संभव नहीं था।

यहां तक ​​कि बैंकों ने भी नए कंपनियों को बड़ी मात्रा में पूंजी उधार नहीं दी, जो कि अपने कारोबार को शुरू करने या बढ़ाने के लिए आवश्यक थी।

इस प्रकार 17 वीं शताब्दी की शुरुआत में, जब ट्रेडिंग कंपनियां एशिया और अमेरिका के नए खोजे गए महाद्वीपों की खोज कर रही थीं, तो उन्हें बड़ी मात्रा में धन की आवश्यकता थी जो उनके राजा प्रदान करने में असमर्थ थे।

उनके देश के अमीर लोग धन उधार देने के लिए तैयार थे, लेकिन उन्होंने भारी ब्याज की मांग की।

Types of Share Market in Hindi - शेयर मार्केट के कितने प्रकार होते है

मुख्यतः Share Market के दो प्रकार होते है एक Primary Share Market और दूसरा Secondary Share Market इसका विश्लेषण नीचे दिया गया है।

1. Primary Share Market (प्राथमिक शेयर मार्केट)

सबसे पहले कंपनी Share Market में क्या काम करता है को अपने शेयर्स की स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टिंग करवाकर अपने शेयर को बेचती है पर उसे Initial Public Offering या IPO लाना पड़ता है और उसके बाद ही निश्चित किये हुए मूल्य पर अपने शेयर को पब्लिक को ख़रीदने के लिए उपलब्ध किया जाता है।

स्टॉक एक्सचेंज जैसे BSE, NSE और ब्रोकर के जरिये कंपनियां प्राथमिक बाजार Share Market में क्या काम करता है के माध्यम से निवेशकों तक पहुँचती हैं।

अगर कोई कंपनी को Initial Public Offering या IPO के लिए जाते समय उसको अपने बारे में, promoters, financials, businesses, अपने शेयर या स्टॉक और उनकी कीमत की पूरी जानकारी देनी होती है।

शेयर बाजार में पैसा कैसे निवेश करें? How to Money Invest in Share Market?

शेयर मार्केट में Invest करने से पहले हमारे सामने कई सवाल होते हैं जैसे कि, How to invest in share market, कहां निवेश और कैसे निवेश करें या Invest करने में Share Market में क्या काम करता है कोई धोखा तो नहीं। इन ही बातो का हमने खयाल रखा तो हम आसानी से शेयर बाजार में निवेश कर सकते हैं।

  • जब कभी भी Invest करना हो उससे पहले उस कंपनियों की हालातों पर नजर रखें।
  • शेयर विकास दर कम हो या महँगाई दर ज्यादा हो तो तब बड़ी कंपनियों पर नजर रखें, क्योंकि Share Market में क्या काम करता है ऐसी स्थिति में छोटी कंपनियों के मुकाबले बड़ी कंपनियों के शेयर अच्छी स्थिति में Share Market में क्या काम करता है होते हैं।
  • जब भी शेयर बाजार की हालत थोड़ी कमजोर हो तो बड़ी कंपनियों की तरफ ध्यान रखे।
  • कोई भी शेयर खरीदने और बेचने के लिए हमेशा एक स्टॉक ब्रोकर की जरूरत होती है, जब आप स्टॉक मार्केट में निवेश या Invest करने के लिए स्टॉक ब्रोकर के पास जाते है, तो आपको सबसे पहले उनके पास से दो account खोलने पड़ते है " Demat Account " और " Trading Account " यह account खोलने के बाद आप आसानी से कोई भी शेयर की खरेदी-बिक्री कर सकते है।
  • आपको स्टॉक ब्रोकर ऐसा चुनना चाहिए की, वह कम फ़ीस में आपको अच्छी और बेहतरीन सेवा दे।
  • शेयर बाजार में पैसे लगाना ही सबकुछ नही है बल्कि आपको financial plan की भी जरूरत होती है। इन्वेस्ट करने से पहले आपको अपनी financial situation, cash flow और रिक्स लेने की क्षमता पर विचार करना चाहिए।
  • शेयर बाजार में इन्वेस्ट करने के लिए आपको उसके बारे में पूरी जानकारी होना बहुत जरूरी है वरना आपको बहुत बडी कीमत चुकानी पडती है। इसलिए आप किसी जल्दबाजी में कोई फैसला ना ले।

Indore News: शेयर बाजार में निवेश करना व्यापार करने जैसा ही है इसलिए सही ज्ञान होना जरूरी

Indore News: शेयर बाजार में निवेश करना व्यापार करने जैसा ही है इसलिए सही ज्ञान होना जरूरी

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि) Indore News। इंस्टीट्यूट आफ चार्टर्ड अकाउंटेंट आफ इंडिया (आइसीएआइ) इंदौर ब्रांच ने शनिवार को पोस्ट कोविड मार्केट आउटलुक विषय पर फिजिकल एवं वर्चुअल सेमिनार आयोजित किया। इसमें 100 से ज्यादा चार्टर्ड अकाउंटेंट शामिल हुए। मुख्य अतिथि गाजियाबाद के सेंट्रल काउंसिल सदस्य सीए अनुज गोयल और रीजनल काउंसिल चेयरमैन सीए नीलेश गुप्ता थे। इंदौर ब्रांच के चेयरमैन सीए कीर्ति जोशी ने कहा कि शेयर बाजार में ट्रेडिंग एक तरह से व्यापार है और सही ज्ञान एवं सटीक प्लान के बिना कोई भी व्यक्ति व्यापार में सफल नहीं हो सकता। केवल कुछ किताबें या वाट्सएप की जानकारी पढ़कर ट्रेडिंग में आ जाने से काम नहीं चल सकता। केवल ब्रोकरेज अकाउंट खोलकर और चार्टिंग प्रोग्राम खरीदकर शेयर बाजार में पैसा लगा देने से सफलता नहीं मिल सकती, उल्टे इससे नुकसान का डर ज्यादा होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि स्टडी के अनुसार मार्केट में शेयर ट्रेडिंग के व्यापार में केवल एक फीसदी लोगों को ही सफलता मिली है।

निवेश की शुरुआत कैसे करें

स्टॉक में या शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए सबसे पहले डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलना होता है. ट्रेडिंग अकाउंट का इस्तेमाल शेयर या बांड खरीदने और बेचने के लिए किया जाता है. वहीं एक डीमैट अकाउंट बैंक अकाउंट की तरह काम करता है, जहां आपके शेयर इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में जमा होते हैं.

जब आप शेयर खरीदते और बेचते हैं तो यह आपके अकाउंट में क्रेडिट और डेबिट हो जाते हैं. ट्रेडिंग अकाउंट में लॉग इन करके आप उस स्टॉक को चुन सकते हैं जिसे आप खरीदना या बेचना चाहते हैं. खरीदने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपके अकाउंट में शेयर खरीदने के लिए पर्याप्त पैसा है. फिर वह कीमत तय करें जिस पर आप शेयर खरीदना या बेचना चाहते हैं.

रेटिंग: 4.27
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 577